THEMES

LIFE (52) LOVE (28) IRONY (25) INSPIRATIONAL (9) FRIENDSHIP (7) NATURE (3)

Saturday, March 3, 2012

वो कुछ पल जो तेरे साथ बीते हैं...

वो कुछ पल जो तेरे साथ बीते हैं
आज भी बस हम उन्ही में जीते हैं
ख्यालों में कितनी रहती है अमीरी 
कलम पीने लगी, जाम लिखते हैं 

शरारतें, वो मस्ती, रूठना - मनाना
बेमतलब थोड़े फूले- फूले से रहते हैं   
धडकनें बढ़ी, कभी सांसें थम ही गई 
अदाओं में तेरी,  तीखे सलीके हैं 

खामोशियों में अक्सर होती बातें 
बिना कहे ही, काफी कुछ सुनते हैं 
होठ जब कभी तेरे, लेते हैं अंगड़ाई 
नज़रें गडी सी उनपर, बेचैन रहते हैं 

वो कुछ पल जो तेरे साथ बीते हैं
आज भी बस हम उन्ही में जीते हैं...

Image Courtesy: Ms.Shambhavi Upadhyay

21 comments:

dheerendra said...

सुंदर भाव अभिव्यक्ति की बेहतरीन रचना,..प्रकाश जी..बधाई

NEW POST...फिर से आई होली...

shefali said...

bahot sahi bayaan kiya hai pyar k palo ko.. Loved it

Pratiksha said...

Wow....

sushma 'आहुति' said...

बस उन्ही पलो में जिन्दगी गुजरी है.... या यूँ गुज़र रही है.... बहुत ही बेहतरीन अभिवयक्ति.....

ASHA BISHT said...

bahut khub prakash ji

Reena Maurya said...

सुन्दर भाव
सुन्दर अभिव्यक्ति..

मनीष सिंह निराला said...

वो कुछ पल जो तेरे साथ बीते है
आज भी बस हम उन्ही में जीते है
क्या बात है ??? बहुत सुन्दर ......!

Onkar said...

bahut sundar abhivyakti

vidya said...

सुन्दर...
प्यारी अभिव्यक्ति...

दिगम्बर नासवा said...

इन खामोशियों की जुबां को सुनना आसान नहीं होता .. प्रेम करने वाले ही सुन सकते हैं ...

Rakesh Kumar said...

सुन्दर प्रस्तुति.
आपका अंदाजे बयां निराला है.

होली की हार्दिक शुभकामनाएँ

anju(anu) choudhary said...

खूबसूरत एहसास


होली की शुभकामनाएं

Alka Gurha said...

Your Hindi is impeccable Prakash.... And your pic remind me of my son who is away in college.

Jyoti Mishra said...

such moments are immortal... always reside in our minds forever..
beautiful expressions as ever :)

Agree with alka.. your Hindi is impeccable !!

Ruchi Jain said...

wow,, the title is superb,, and apne ye line ko bhi positive way mai poem form kar dia.. nice.

Ruchi Jain said...

i never hate anybody bcoz they cheated,, i love them still bcoz of them , i lived the most happening days too, and shayd hamesha time and log ek jaise nhi rah sakte,, isilye things changes,, and isliye humare pass memories naam ki chiz hoti hai jinhe hum ajj bhi jeete hai..:)

Vishwa.... said...

Wow.....

Akhil said...

बहुत सुन्दर...भाव पूर्ण प्रस्तुति..

mridula pradhan said...

wah......man ke bahut paas.....

Shreya said...

:) Nice!!

दिगम्बर नासवा said...

दरअसल वही पल तो जीवन हैं ... वो उके साथ जिए हैं ...

Post a Comment

Your comments/remarks and suggestions are Welcome...
Thanks for the visit :-)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...