THEMES

LIFE (52) LOVE (28) IRONY (25) INSPIRATIONAL (9) FRIENDSHIP (7) NATURE (3)

Thursday, October 20, 2011

सोचा ना था.....











अब तो सपने भी रोने लगें हैं;
कल उठा तो तकिया-बिछोना भीना था
ज़िन्दगी तू इस कदर नाराज़ होगी मुझसे;
ऐसा कभी सोचा ना था..... 

बस कल की सी बातें, बरसों का साथ 
नोक-झोक, तकरार और उसमे छुपा प्यार 
रह जायेगा बस उन लम्हों का एहसास 
ऐसा कभी सोचा ना था..... 


वो हिम्मत, वो जज्बा, वो हौसला
एक कोशिश ज़िन्दगी से लड़ने की,
होगा वक़्त का ऐसा प्रहार 
ऐसा कभी सोचा ना था..... 

21 comments:

Nidhi Shendurnikar said...

great ...life is full of surprises ...the unexpected happens and baffles us ... u can add more lines of thought to the poem about good and bad surprises of life

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...

बहुत ही बढ़िया सर!
----
कल 22/10/2011 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
धन्यवाद!

Keyur said...

बहोत खूब मेरे यार............... and agree with Nidhi....... you should add some more lines..........

Anil Avtaar said...

Very..very..very nice Prakash Jee..
I have no more words to express... Congrats..

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') said...

अब तो सपने भी रोने लगे हैं....
बहुत सुन्दर
सादर...

sushma 'आहुति' said...

सार्थक अभिवयक्ति.....

सदा said...

बेहतरीन अभिव्‍यक्ति ।

वन्दना said...

बस वो ही तो होता हैजो सोचा नही होता…………सुन्दर भावाव्यक्ति।

Kailash C Sharma said...

बहुत सुन्दर भावाभिव्यक्ति..

Amit Chandra said...

प्रकाश भाई यही तो जिंदगी है हम जो चाहते है वो नहीं होता और जो नहीं चाहते है वही हो जाता है. सुंदर रचना के लिए बधाई के पात्र है. आभार.

हरकीरत ' हीर' said...

uff.....!!

संजय भास्कर said...

सुन्दर प्रस्तुति
परिवार सहित ..दीपावली की अग्रिम शुभकामनाएं

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

सुंदर भाव लिए पंक्तियाँ... दीपोत्सव की शुभकामनायें

Anil Avtaar said...

प्रकाश जी ..!
प्रकाश पर्व पर आपको हार्दिक शुभकामनाएं !

-: शुभ दीपावली :-

Vishwa Vyas said...

Life is like this only... Good One Dear!!!

Happy Diwali ...

Amrita Tanmay said...

सुन्दर

mridula pradhan said...

bahut marmik andaz hai......dil ko choonewala......

Nityanand Gayen said...

Sunder

MM said...

Very well written Prakash Bhai... Superb Words

अनुपमा पाठक said...

जीवन हर पल संभावनाओं का नाम है!

kamaalnivato said...

यह कविता पढने के बाद मुझे यह लग रहा है की कविताओ में "प्रकाश" खुद अपना व्याप बढ़ा रहा है और यह कविता पढने के बाद में यह कहूँगा की उन्हों ने कविता को भी एक नए आयाम दिया है.....

Post a Comment

Your comments/remarks and suggestions are Welcome...
Thanks for the visit :-)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...