THEMES

LIFE (52) LOVE (28) IRONY (25) INSPIRATIONAL (9) FRIENDSHIP (7) NATURE (3)

Tuesday, February 16, 2010

નજરાણું...


તારા ગીતો તારી વાતો હરદમ વિસરાવું છું,
ખબર નથી શું પામું છું ને શું ગુમાવું છું.

લાગણીયો થી દૂર થવાનું ક્યારેક વિચારું છું,
પણ શક્ય નથી બનતું ને હારી જાઉં છું.

તને લાગતું હશે કે હું આટલું કેમ તને વખાણું છું,
અરે! આ શબ્દો મારા બતાવે કે હું કેટલું તને જાણું છું.

મન દર્પણ માં હરપળ હર ક્ષણ તુઝને જ માણું છું,
તું મારા જીવન ને મળેલું એક અદભુત નજરાણું છું.

લિ: 
પ્રકાશ જૈન 
૧૩.૨.૧૦ 

Wednesday, February 10, 2010

प्यार




प्यार को देखने के कई है प्रकार
अलग-अलग दृष्टिकोण, अलग-अलग विचार
प्यार को _ _ _ _ _ _ _

सबसे पहले आता माँ का प्यार
जिससे गहरी न कोई गहराई, न ऊची कोई मिनार
प्यार को _ _ _ _ _ _ _
फिर आता पिताजी का प्यार
जिनका खून दौड़ता रगों में, जिनसे मिलती सुख-सुविधा अपार
प्यार को _ _ _ _ _ _ _
फिर आता भाई - बहन का प्यार
जिसका प्रतिक माना जाता रक्षाबंधन का त्यौहार
प्यार को _ _ _ _ _ _ _
यू तो कम पाया जाता भाईयों में प्यार
पर इनमें भी होता है मोह और स्नेह अपार
प्यार को _ _ _ _ _ _ _
फिर आता दादा-दादी का प्यार
जिसमे होती ममता, करुणा और लाड़-प्यार की बरसात
कहा है यूँ जाता कि "मूल से ज्यादा प्यारा होता ब्याज"
प्यार को _ _ _ _ _ _ _

फिर आता देवर-भाभी या भाभी-ननंद का प्यार
जिसमे होती थोड़ी शरारत, थोड़ी छेड़छाड़
प्यार को _ _ _ _ _ _ _
फिर आता पति-पत्त्नी का प्यार
समझ, सुझबुझ और सम्मान के साथ प्यार
ये बनाते दीर्घ जीवन - व्यवहार
चाहे आये सुनामी, या भूकंप या बाढ
ये देते सबको अपने प्यार से पछाड़
प्यार को _ _ _ _ _ _ _

आइए अब जाने प्रेमी-प्रेमिका का प्यार
जिसमे होते नित नये आयाम
बहुत सारे वादे, चंद होते साकार
पर प्रेम हो सच्चा, तो बदलता जीवन-व्यवहार
अन्यथा हर दिन लगती जिन्दगी एक भार
प्यार को _ _ _ _ _ _ _

कृष्ण थे एक थी गोपियाँ हजार
पर आज कि न ये स्थिति, न य़ू लगी कतार
इसलिए समझिए मेरे दोस्त, मेरे यार
किसी एक को चुनिये, किजिए केन्द्रित विचार
अन्यथा होगी बीमारियाँ, व् समस्याएं अपार
प्यार को _ _ _ _ _ _ _
इस तरह प्यार से ही जीवन
प्यार से ही हर रिश्ता-व्यवहार
प्यार का न किजिए तिरस्कार
क्योंकि इसके बिना तो है जीवन निराधार
प्यार को _ _ _ _ _ _ _
-
प्रकाश जैन

Friday, February 5, 2010

" I " lest I should succeed ?...."मैं" कदाचित सफल हो पाऊ ?



May all your pleasures achieve their own end
As soon as you hold your right hand with your right hand
Oh ! my creative impulse
Sure I am not of my tomorrow,
But I guarantee to hate you
Only when you finish the counting of stars.
Wish to write a single line on you " I "
Waiting for the Eighth day of a week
Still continue to attempt till the age of my life
" I " lest I should succeed ?

By:
Dharmesh Solanki

About Poet and Poetry:
This one is written by my friend and graduation batch mate Mr. Dharmesh Solanki who is a visually challenged but a versatile personality. This one is his dedication to one of our teachers. The same has been translated by me as a first attempt in poetry translation.


हिंदी अनुवाद
संभव हो कि आपकी सभी खुशीयों का अंत हो
जैसे ही आप अपने दाहिने हाथ को दाहिने हाथ से थामे
ओ ! मुझे रचनेवाली प्रेरणा
जरुरी ही मै अपने कल का नहीं,
लेकिन मेरा वादा है तुझसे नफरत करूँगा
तभी जब तुम तारो की गिनती पूर्ण करो
चाहता हू कि लिखू एक एकल पंक्ति तुम पर
मै इंतजार में हू सप्ताह के आठवे दिन का
अभी भी लगातार प्रयत्नशील हूँ,
मेरे उम्र के तकाजे से "मैं"
कदाचित सफल हो पाऊ ?

अनुवाद-
प्रकाश जैन


Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...