THEMES

LIFE (52) LOVE (28) IRONY (25) INSPIRATIONAL (9) FRIENDSHIP (7) NATURE (3)

Thursday, April 15, 2010

Virtual जीवन...









जबसे आया है Computer जीवन में
Password protected हूवा जीवन है
कि Folder अलग है, File अलग है 
मिया-बीवी की Networking Profile अलग है

कि Chatting पे हँसना, उसपर ही रोना 
किसी को पास पाना, किसीसे दूर होना
कि Gaming बिना भी क्या जीवन है
Updates पे Comment करे हर जन है

कोई करे Download तो कोई Upload
Wi-Fi बनी दुनिया, क्या दफ्तर क्या रोड
कि Website बनाना बिज़नस का धर्म है
उसपर बढा-चढ़ा कर लिखावट का नियम है

कि नौकरी मिलती Job-Portal से, विज्ञापन  हुआ  पुराना
किसी भी कोने से ढूंढें किसीका भी ठिकाना
Blogging (चिट्ठाजगत) का एक अलग ही फ़साना है 
विचारों को रखना, प्रतिक्रिया पाना है

Online हुवे हम सब, हरदम है Mobile
दुःख भले हो जीवन में , पर Profile पर है Smile :-)
Virtual इस जीवन से खुश तन-मन-धन व् लगन है 
 कितना भी डूबे हो फिर भी लगता ये कम है....



1 comments:

meenu said...

gazabbbbbbbbbb boss...........fully netbird poetry hai...................jio meri jaannnnnnnnn

Post a Comment

Your comments/remarks and suggestions are Welcome...
Thanks for the visit :-)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...